Satpal

मेरा नाम सतपाल कुमार है। मेरी उम्र 38 साल है मैं सेक्टर 19 की सदर बाजार में काम करता था और 14 साल तक मैंने sales man का काम किया। जिसमे की 12 से 14  घंटे की duty करता था और अपनी ज़िन्दगी को लेकर मायूस हो चूका था की मेरी ज़िन्दगी ऐसे ही कट जायेगी मुझे कोई ऐसा रास्ता दिखाई नहीं  दे रहा था की मैं अपनी ज़िन्दगी को खुशहाल कैसे जी सकूँ और अपना नाम बना सकूँ।

तभी 2011  में मुझे मेरे भाई सतीश कुमार जी ने जो यूनिवर्सल मार्शल आर्ट्स अकादमी में Director हैं जिसमें मार्शल आर्ट्स की ट्रेनिंग दी जाती है।  मेरे  भाई सतीश मुझे  समझाया की आप अपना future इसमें बना सकते हो और आप 12 से 14 घंटे की job से छुटकारा पा सकते हो और अपनी health भी सही रख सकते हो मैंने अपनी भाई सतीश की बात मान कर फैसला किया की मैं अपनी ज़िन्दगी यूनिवर्सल मार्शल आर्ट्स अकादमी में बनाऊंगा। मैंने 2011  में अकादमी को join किया और मार्शल आर्ट्स की ट्रेनिंग ली और ट्रेनिंग कैसे देते हैं वो भी सीखा और आज मैं इसमें इंस्ट्रक्टर का job कर रहा हूँ और मैं अपनी ज़िन्दगी बहुत ख़ुशी से जी रहा हूँ और कामयाब हूँ।

मैं दिल से धन्यवाद करता हूँ सतीश कुमार जी का जिन्होंने ने मुझे सही रास्ता दिखाया और मुझे अपनी अकादमी में काम दिया और पहचान बनवायी मैं धन्यवाद करता हूँ यूनिवर्सल मार्शल आर्ट्स अकादमी का जिसकी वजह से मैंने अपनी ज़िंदगी को बदला। oss